ज्ञान शक्ति है पर निबंध, Gyan Shakti Hai Essay in Hindi, Short, Long Essay in Hindi, Hindi Anuched for Class 6, 7, 8, 9, 10, and 12 Students.

ज्ञान शक्ति है पर निबंध

Gyan Shakti Hai Essay in Hindi

 

प्रसिद्ध व्यक्तित्व, फ्रेसिस बेकन के द्वारा कहा गया कथन, ““ज्ञान शक्ति है””, प्रसिद्ध और सच्ची कहावत है। ज्ञान मनुष्य और जानवरों के बीच अन्तर करने में मदद करता है। मनुष्य के पास मस्तिष्क होता है और उसी के अनुसार उसका प्रयोग करने की क्षमता भी, इसी कारण मनुष्य को पृथ्वी पर प्रकृति के द्वारा सबसे शक्तिशाली और बुद्धिमान प्राणी कहा जाता है। ज्ञान लोगों के व्यक्तित्व को सुधारने में मदद करता है: यह आत्मविश्वास का निर्माण करता है और जीवन में कठिन कार्यों को करने के लिए धैर्य धारण करना सिखाता है। हम ज्ञान को गॉडमदर कह सकते है क्योंकि यह सभी खोजों, अविष्कारों और अन्वेषण के लिए राह प्रदान करता है।

ज्ञान को प्राप्त करने की कोई सीमा नहीं है; यह व्यक्तिगत रुप से पूरे जीवन भर किसी भी आयु तक प्राप्त किया जा सकता है। ज्ञान प्राप्त करना लगन, धैर्य और नियमितता की एक लम्बी प्रक्रिया है। यह असीमित धन की तरह है, जो कभी खत्म नहीं हो सकता हालांकि, जरुरतमंद लोगों में ज्ञान बाँटकर इसके स्तर को बढ़ाया जा सकता है। एक व्यक्ति नियमित रुप से चीजों को परख कर और प्रयोग करने के द्वारा कुछ नया ज्ञान प्राप्त कर सकता है। प्रत्येक मनुष्य समान गुणों, मस्तिष्क, और शक्ति के साथ जन्म लेता है हालांकि, जब वह बढ़ता/बढ़ती है, तो अलग गुण, मस्तिष्क और शक्ति को विकसित कर लेता/लेती है: ये सभी अन्तर प्रत्येक व्यक्ति के ज्ञान के स्तर में अन्तर के कारण होते हैं। उदाहरण के लिए: न्यूटन ने गुरुत्वाकर्षण की खोज की और ऐसे बहुत से प्रसिद्ध वैज्ञानिक हैं, जिन्होंने अपने जीवन में कई आश्चर्यजनक अविष्कार किए। ये सभी ज्ञान की शक्ति के कारण ही संभव हुआ।

विभिन्न देशों के द्वारा मिलकर या वैयक्तिक रुप से की गई आधुनिक तकनीकी की खोजों ने, देशों को अन्य देशों से आर्थिक और सैन्य रुप से बहुत अधिक शक्तिशाली बना दिया है, ये सभी ज्ञान पर ही आधारित है। सफलता के पीछे का रहस्य ज्ञान की शक्ति है, जो अंततः एक व्यक्ति को नाम, धन और प्रसिद्धी देता है। भारत ने भी विज्ञान, शोध, चिकित्सा, शिक्षा आदि के क्षेत्रों में बहुत कार्य किए हैं, लेकिन आज भी कई क्षेत्रों में निरंतर प्रयासों के बाद भी एक विकासशील देश है, जो अब ज्ञान के आधार पर विभिन्न क्षेत्रों में विकास करने के द्वारा शक्तिशाली देश बनने के लिए निरंतर प्रयासरत है। मनुष्य या किसी भी देश की प्रगति विभिन्न क्षेत्रों में सकारात्मक और रचानात्मक तरीके से ज्ञान की वृद्धि पर निर्भर करती है। ज्ञान का विनाशक और नकारात्मक तरीके से प्रयोग पृथ्वी पर जीवन के अस्तित्व को बड़े स्तर पर खतरे में डाल सकता है।

फ्रेसिस बेंकन ने कहा है कि, ज्ञान अपने आप में एक शक्ति है, जो सबकुछ बदलने की क्षमता रखता है। परिस्थितियों को संभालने, योजना बनाने, योजनाओं को कार्य रुप में बदलने और असंभव चीजों को संभव बनाने का रास्ता ज्ञान देता है। यदि किसी के पास पूरा ज्ञान है तो, वह दुनिया का सबसे भाग्यशाली और धनवान व्यक्ति होगा/होगी, क्योंकि ज्ञान को न तो कभी चुराया जा सकता है और न ही लूटा जा सकता है और यहाँ तक कि दूसरों को बाँटने पर घटता भी नहीं है। वास्तव में, “ज्ञान शक्ति है” और हम कह सकते हैं कि, इस संसार में सबसे ताकतवर शक्ति ज्ञान है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.