Home » Hindi News » पंजाब के 937 करोड़ के प्रोजेक्टों को मंजूरी दे केंद्र सरकार : कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब के 937 करोड़ के प्रोजेक्टों को मंजूरी दे केंद्र सरकार : कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब के 937 करोड़ के प्रोजेक्टों को मंजूरी दे केंद्र सरकार : कैप्टन अमरिंदर सिंह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नौवीं पातशाही गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व के जश्नों संबंधी योजनाओं को अंतिम रूप देने के लिए बुलाई गई उच्च स्तरीय राष्ट्रीय समिति की मीटिंग में वर्चुअल तौर पर शिरकत करते हुए पंजाब के ने कहा कि राज्य सरकार के 937 करोड़ रुपए के विभिन्न प्रोजेक्टों संबंधी प्रस्तावों को मंजूरी दी जाए। इनमें श्री आनन्दपुर साहिब को स्मार्ट सीटी के तौर पर विकसित करना भी शामिल है ताकि गुरु तेग बहादुर को अकीदत भेंट की जा सके।

सर्वोच्च बलिदान देश के इतिहास का हिस्सा

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी भाग्यवान हैं कि हमें अपने जीवन में यह ऐतिहासिक जश्न मनाने का मौका मिल रहा है और मैं मोदी जी को यह यकीनी बनाने की अपील करता हूं कि इन ऐतिहासिक जश्नों को न सिर्फ राष्ट्रीय बल्कि वैश्विक स्तर पर भी मनाया जाएं। उन्होंने कहा कि गुरु तेग बहादुर को हिंद की चादर भी कहा जाता है। वह हमारे देश की धर्मनिरपेक्ष परंपरा के मार्गदर्शक हैं और उनके द्वारा दिए गए सर्वोच्च बलिदान ‘सीस दीया पर सिर न दीया’ हमारे देश के इतिहास का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि वह ख़ुद को सौभाज्यशाली महसूस करते हैं कि उनके मौजूदा कार्यकाल के दौरान उनको गुरु गोबिन्द सिंह के 350वें और श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व समागमों का हिस्सा बनने का मौका मिला।

कस्बों और गांव में सुधार की योजना

उन्होंने कहा कि मेरे पिछले कार्यकाल के दौरान भी मुझे गुरु ग्रंथ साहिब की 400वीं वर्षगांठ के जश्नों का हिस्सा बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। प्रधानमंत्री को इस संबंधी केंद्र सरकार को भेजे गए ज्ञापन के बारे जानकारी देते हुए कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि उनकी सरकार द्वारा राज्य में गुरू साहिब के जीवन के साथ जुड़े कस्बों और गांवों के ढांचे में सुधार करने की योजना है। मुख्यमंत्री ने आगे बताया कि राज्य सरकार द्वारा भेजे गए प्रस्तावों में श्री आनन्दपुर साहिब, अमृतसर और बाबा बकाला में बुनियादी ढांचे के विकास के लिए प्रोजेक्टों के अलावा गुरू साहिब के चरण स्पर्श प्राप्त राज्य के 78 गांवों में छप्पड़ों और परंपरागत जल स्रोतों की हालत में सुधार करना और गुरू नानक देव यूनिवर्सिटी, अमृतसर में गुरू तेग बहादुर स्कूल ऑफ टेक्स्टाईल टेक्नोलॉजी और बाबा बकाला में गुरू तेग बहादुर इंस्टीट्यूट आफ हैंडीक्राफ्ट स्थापित करना शामिल है।

Also Read:--  ਆਮ ਆਦਮੀ ਪਾਰਟੀ ਵੱਲੋਂ ਬਿਜਲੀ ਦੀਆਂ ਕੀਮਤਾਂ ਦੇ ਵਿਰੁੱਧ ਜਨ ਅੰਦੋਲਨ

यादगारी टिकट जारी की जाए

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री को यह भी अपील की कि केंद्र सरकार द्वारा इस मौके पर विशेष यादगारी डाक टिकट भी जारी की जानी चाहिए। उन्होंने सुझाव दिया कि गुरु तेग बहादुर के जीवन संदेश को दुनिया के कोने-कोने तक पहुंचाने के लिए देश के अलावा विदेशों के सभी भारतीय मिशनों में यादगारी समागम करवाए जाने चाहिएं। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को यह भी जानकारी दी कि 1 मई के मुख्य समारोह को देश और ख़ासकर पंजाब की कोविड स्थिति को ध्यान में रखते हुए अंतिम रूप दिया जा रहा है। उन्होंने देशभर में इस ऐतिहासिक मौके पर करवाए जाने वाले जश्नों के लिए विस्तृत योजना बनाने के लिए प्रधानमंत्री और गृहमंत्री अमित शाह का धन्यवाद किया।

About

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Name *
Email *
Website

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.